Death

Death

www.lifedefinition.online

Death comes to everyone in the world, whoever has taken birth, comes to death because our death has been written before our birth, how many breaths we have to come in this world have also been written. So it is that when we are born, we get the mother’s lap much later but we start growing towards death.Suppose if we have got only a few breaths of counting and that breath we have to spend in this life and go back, then when the first breath came out then the first step has started to move towards death, then the last breath will surely come out. He has gone towards

There are many people who are afraid of dying, this fear haunts everyone, but there is a certain time when then why do we get so nervous every day, we are disturbed by thinking. Will thinking of it again and again when the day of our death be changed will never change.

The biggest truth in this world is that in this world, whether there is a human being or a living being, whether there is a worm moth, whoever is born on this earth, he must die one day.

We should never be afraid of death because we are afraid of what is to happen and what is to be done, which is this day, we have got it, the moment we are sitting today, then we are happy why we Repeatedly, we remember death and cry, the one who is written, he will come to death, wherever he runs, because this law has been written by that God himself.Then every day we all sit with many troubles that I have not made it in this world, it has not been made, no one loves me, no one respects me, no one listens to me, what to do when not to live in the world There is so much respect, respect, love, we can be happy in whatever we have today.

At least we have a house to live, we have two time to eat, there are clothes to wear, that is all we need, a person’s desires are never fulfilled, even when a person dies, there is definitely a desire in him. He dies with the same desires, anyway, we have spent our entire life fulfilling these desires and are getting upset if we know the truth that we have to die then why should we not be happy
So, let’s make this life happy today. Reduce your desires and desiresBecause whatever we are adding today in this world will remain on this, even this body of ours will remain in this world only, which we spend so much time in decorating.

Now when this body cannot go with us, then why are we adding so much wealth, I do not say that we should not work hard, we must work hard so that there is never any grief or trouble and always do that work Be happy

Love this post of mine today, please like, share and follow .

Thank you

www.lifedefinition.online

मौत

मोती संसार में हर किसी को आती है जिसने भी जन्म लिया है उसे मौत आती ही आती है क्योंकि हमारे जन्म से पहले हमारी मौत लिखी जा चुकी होती है इस दुनिया में आकर हमने कितने श्वास लेने हैं यह भी लिखे जा चुके होते हैं सबसे बड़ी बात तो यह है कि जब हमारा जन्म होता है तब हमें मां की गोद तो बहुत बाद में मिलती है लेकिन मौत की तरफ हम पहले बढ़ने लग जाते हैं मान लो अगर हमें गिनती के कुछ ही श्वास मिले हैं और वह श्वास हमने इस जिंदगी में बिताकर वापस चले जाना है तो जब पहला श्वास बाहर निकला तो शुरुआत हो गई मौत की तरफ बढ़ने की पहला निकला है तो आखरी भी जरूर निकलेगा अब जो श्वास अंदर की तरफ गया है वह तो खत्म हो गया.

बहुत से ऐसे लोग हैं जो मरने से डरते है यह डर सबको सताता है लेकिन एक निश्चित समय है जब तो फिर क्यों इतना हम घबराते हैं रोज हम सोच सोच कर परेशान होते रहते हैं. क्या बार-बार सोचने से जब बहुत ज्यादा डर जाने से हमारी मौत का दिन बदल जाएगा कभी भी नहीं बदलेगा.

इस संसार में सबसे बड़ा सच है इस दुनिया में चाहे इंसान है चाहे कोई जीव जंतु है चाहे कोई कीड़ा मकोड़ा है जिसने भी इस धरती पर जन्म लिया है उसने एक ना एक दिन जरूर मरना है.
हमें मौत से कभी भी नहीं डरना चाहिए क्योंकि जो चीज होनी है और जो होकर रहनी है उससे हम क्यों डरते हैं जो यह दिन है यह तो हमें मिला हुआ है जिस घड़ी जिस पल में आज हम बैठे हैं इसमें तो फिर हम खुश रहे क्यों हम बार-बार मौत को याद कर करके रोते हैं डरते हैं जिसकी जैसी लिखी होगी उसे वैसे ही वह मौत आएगी वह चाहे कहीं पर भी दौड़ ले क्योंकि यह विधि का विधान उस परमात्मा ने खुद लिखा हुआ है.

फिर हम सब हर रोज ढेरों परेशानियां लेकर बैठ जाते हैं कि मैंने इस संसार में यह नहीं बनाया वह नहीं बनाया कोई मुझे प्यार नहीं करता कोई आदर सम्मान नहीं देता कोई मेरी बात नहीं सुनता क्या करना है जब दुनिया में ही नहीं रहना है तो क्या करना है इतना आदर सम्मान प्यार रुतबा आज जो कुछ है हमारे पास उसी में हम खुश रह सकते हैं.

कम से कम हमारे पास रहने को घर है खाने का दो वक्त का खाना है पहनने के लिए कपड़े हैं इतना ही तो चाहिए इंसान को इच्छाएं तो कभी भी इंसान की पूरी नहीं होती जब इंसान मरता है तब भी कोई ना कोई इच्छा उसके अंदर में जरूर होती है वही इच्छाओं के साथ मर जाता है वैसे भी हमने अपनी पूरी जिंदगी इन इच्छाओं को को पूरा करने में बिता दी है और परेशान होते रहते हैं अगर हमने यह सच जान लिया है कि हमने मरना ही मरना है तो क्यों ना फिर हम खुश रहे.

तो चलो फिर आज हम इस जीवन को खुशहाल बनाते है. अपनी इच्छाओं और तृष्णा ओं को कम करते हैं क्योंकि आज हम जो कुछ भी इस संसार में जोड़ रहे हैं वह यही पर रह जाएगा यहां तक कि हमारा यह शरीर भी इसी संसार में ही रह जाएगा जिसको हम सजाने में इतना टाइम लगाते हैं.

अब जब यह शरीर तक हमारे साथ नहीं जा सकता तो फिर क्यों हम इतनी धन-संपत्ति जोड़ रहे हैं मैं यह नहीं कहती कि हमें मेहनत नहीं करनी चाहिए मेहनत जरूर करनी चाहिए ताकि कभी कोई दुख या परेशानी ना हो और हमेशा वह काम करें जिससे हमें खुशी हो.

मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा हो शेयर लाइक फॉलो जरूर करें .

धन्यवाद

--

--

"God is not your bank account. He is not your means of provision. He is not the hope of your pay. He is not your life. He's not your god. He's your Father."

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store
Spiritual stories

"God is not your bank account. He is not your means of provision. He is not the hope of your pay. He is not your life. He's not your god. He's your Father."