पहली नज़र में प्यार

पहली नजर का प्यार, मुझे ऐसा लगता है कि लोग पहली नजर में प्यार में पड़ सकते हैं।
https://www.spiritualstories.online/2021/12/blog-post_6.html

पहली नजर का प्यार, मुझे ऐसा लगता है कि लोग पहली नजर में प्यार में पड़ सकते हैं। ऐसा तब होता है जब हम किसी अनजान व्यक्ति को देखते हैं, वह व्यक्ति हमें अपने जैसा महसूस होने लगता है। उसे देखकर हमारे अंदर कुछ भावनाएँ जागने लगती हैं। ऐसा हमेशा नहीं होता, लेकिन जब भी ऐसा होता है तो दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास महसूस होता है। इसे कहते हैं पहली नजर का प्यार।

क्या आपने कभी किसी के साथ त्काल, मजबूत संबंध महसूस किया है? यह पहली नजर में प्यार जैसा है, लेकिन गहरे स्तर पर। यह एहसास पल भर में हो सकता है, जब हम किसी से पहली बार मिलते हैं तो पता नहीं वो हमारे दिल में पूरी तरह से कैसे समा जाता है। हमारे दिल में कुछ होता है। मुझे लगता है कि इसे ही पहली नजर का प्यार कहा जाता है।

प्रेम के बारे में आजकल जो कुछ हम सुनते या देखते हैं, उसके कारण हम पहली नजर के प्यार को आकर्षण भी कह सकते हैं। क्योंकि प्यार एक ऐसा एहसास है जो कभी खत्म नहीं होना चाहिए लेकिन आज जो प्यार है वो बहुत कम समय के लिए ही है. पहली नजर के प्यार को लेकर हर किसी की अलग-अलग मान्यताएं होती हैं।

प्यार एक अजीबोगरीब ताकत है जो कभी-कभी हमें अंधा कर देती है। कभी-कभी पहली नजर का प्यार सफल हो जाता है, ज्यादातर असफल हो जाता है। पहली नजर का प्यार ज्यादातर युवाओं में पाया जाता है। युवा बहुत जल्दी एक दूसरे के प्यार में पड़ जाते हैं।

पहली नजर में प्यार तब होता है जब दो लोग मिलते हैं, और तुरंत एक-दूसरे के प्रति आकर्षित होते हैं, अक्सर बिना किसी स्पष्ट कारण के। इसे आमतौर पर प्यार में पड़ने के रूप में वर्णित किया जाता है, हालांकि यह हमेशा सच्चे प्यार का मामला नहीं होता है, यह मोह भी हो सकता है। मोह सदा के लिए नहीं रहता, कुछ समय बाद समाप्त हो जाता है। ऐसा प्यार थोड़े समय के लिए ही होता है।

हम अक्सर एक खूबसूरत व्यक्ति को देखते हैं और उसके साथ अपना जीवन बिताने का सपना देखते हुए तुरंत उस पर मर मिटते हैं। हम उस व्यक्ति के अलावा और कुछ नहीं देख सकते हैं। हम इस तरह के प्यार को पहली नजर के प्यार की श्रेणी में रख सकते हैं लेकिन पहली नजर के प्यार में कोई भावना नहीं होती है, केवल आकर्षण होता है। आकर्षण एक ऐसी चीज है जो समय के साथ बदलती रहती है। इसलिए यह रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं चलता। रिश्ता हमेशा ऐसा ही चलता है जब दोनों एक-दूसरे को अच्छी तरह से जानते हों, एक-दूसरे के अच्छे-बुरे के बारे में जानें, तभी ये रिश्ता आगे बढ़ सकता है.

पहली नजर का प्यार ज्यादातर शारीरिक आकर्षण होता है जब हम किसी खूबसूरत लड़के या लड़की को देखते हैं तो हम उसे देखते रह जाते हैं, ऐसा बहुत कम होता है लेकिन ऐसा होता है। लेकिन ये प्यार तो एक खूबसूरती के साथ ही हुआ। हमें एक व्यक्ति सुंदर लगा और हमें पहली नजर में उससे प्यार हो गया। लेकिन जब धीरे-धीरे उस शख्स की कमजोरियां हमारे सामने आने लगीं तो वो प्यार खत्म होने लगा. पहली नजर का प्यार एक झाग की तरह होता है जो अचानक उठता है और फिर खत्म हो जाता है।

मेरी राय में प्यार एक मजबूत रिश्ता है और यह रिश्ता सोच-समझकर शुरू होना चाहिए क्योंकि अगर यह रिश्ता सोच से शुरू होता है तो यह जीवन भर चलता है। पहली नजर के प्यार में इंसान बिना सोचे-समझे आगे बढ़ जाता है और बाद में नुकसान उठाना पड़ता है, इसलिए जीवन में हमेशा सोच-समझकर ही प्यार करना चाहिए। सच्चा प्यार मिल जाए तो जिंदगी बन जाती है, लेकिन अगर प्यार गलत हो जाए तो पूरी जिंदगी बर्बाद कर सकता है।

इसलिए दोस्तों मेरी राय में पहली नजर के प्यार से हमेशा दूर रहना चाहिए क्योंकि जिस प्यार की उम्र कम होती है वह हमें बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। तो दोस्तों जीवन में जिससे आप प्यार करते हो उससे सच्चा प्यार करो और हमेशा के लिए करो।

अगर आपको मेरा यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप, फेसबुक आदि पर जरूर शेयर करें। आप अपनी प्रतिक्रिया हमें कमेंट करके भी बता सकते हैं।

आपके प्यार और समर्थन के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।*

Originally published at https://www.spiritualstories.online.

"God is not your bank account. He is not your means of provision. He is not the hope of your pay. He is not your life. He's not your god. He's your Father."

"God is not your bank account. He is not your means of provision. He is not the hope of your pay. He is not your life. He's not your god. He's your Father."